कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने कसी कमर

संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरी सक्रियता से कार्य करने के निर्देश सुरक्षात्मक प्रोटोकाल अनुपालन कराने की भी नसीहत

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने कसी कमर

संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरी सक्रियता से कार्य करने के निर्देश
सुरक्षात्मक प्रोटोकाल अनुपालन कराने की भी नसीहत

बहराइच। जिले में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को संक्रमण की रोकथाम के लिए सक्रियता पूर्वक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं उन्होंने सुरक्षात्मक प्रोटोकॉल का अनुपालन कराए जाने की भी नसीहत दी है ।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में स्थापित एकीकृत कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर में मंगलवार को देर शाम आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने निर्देश दिया कि कोविड-19 संक्रमण के द्वितीय फेज के दृष्टिगत गठित निगरानी समितियों को पूरी तरह से सक्रिय कर दिया जाय। सभी समितियों को निर्देशित कर दिया जाय कि वे आमजन को कोरोना के संक्रमण से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिंग, साफ-सफाई, स्वच्छता, सेनेटाइजेशन इत्यादि के बारे में जागरूक करें एवं बाहर से आने वालों पर सतर्क दृष्टि बनाये रखें तथा लक्षणयुक्त लोगों की शत-प्रतिशत जाॅच भी करायी जाय। बैठक के दौरान रैपिड रिस्पांस टीम की गतिविधियों के सम्बंध में संतोष जनक उत्तर न दिये जाने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए आर.आर. टीम के नोडल उप मुख्य चिकित्साधिकारी का वेतन बाधित करने व स्पष्टीकरण प्राप्त किये जाने का सीएमओ निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिया कि कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर के माध्यम से निगरानी समितियों के कार्यों का पर्यवेक्षण भी किया जाय। समितियों की माॅनीटरिंग के दौरान शिथिल और लापरवाह सदस्यों के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई भी की जाय। श्री कुमार ने प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने स्तर पर प्रतिदिन निगरानी समितियों की गतिविधियों की आख्या प्राप्त कर उपलब्ध कराये। श्री कुमार ने सैम्पलिंग के लिए प्रभावी कार्ययोजना तैयार किये जाने के साथ-साथ बाज़ारों में दुकानदारों की रैण्डमली जाॅच किये जाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने सैम्पल कलेक्शन के लिए आवश्यकतानुसार सचल दल गठित किये जाने का भी निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग को मास्क तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कराये जाने का निर्देश दिया। श्री कुमार ने कन्टेनमेन्ट ज़ोन की समीक्षा के दौरान सम्बन्धित एस.डी.एम. व थानाध्यक्ष को प्रोटोकाल का पालन कराये जाने का निर्देश दिया। श्री कुमार ने मरीज़ों की मानीटरिंग चार्ट तैयार कराये जाने के साथ-साथ पाॅज़ीटिव केसों की संवीक्षा किये जाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि होम आईसोलेशन में रह रहे मरीज़ों के प्रति किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय। होम आईसोलेशन मरीज़ों की नियमित रूप से समीक्षा की जाय तथा गाइडलाईन के अनुसार सभी मानकों का अनुपालन भी कराया जाय।
बैठक के दौरान श्री कुमार ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2021 को दृष्टिगत रखते हुए प्रत्येक स्तर पर सभी सम्बन्धित लोग पूरी सर्तकता बरतें। निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रभावी कार्ययोजना भी तैयार की जाय। तापमान की जाॅच के लिए पर्याप्त संख्या में थर्मामीटर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। बैठक के दौरान श्री कुमार द्वारा कोविड के उपचार, उपलब्ध संसाधनों, मैनपावर साफ-सफाई, भोजन इत्यादि के बारे में भी जानकारी प्राप्त करने पर बताया गया कि पर्याप्त संख्या में बेड के साथ-साथ कोरोना की सभी जाॅचों की सुविधा उपलब्ध हैं। संसाधनों की भी कोई कमी नहीं है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, मुख्य राजस्व अधिकारी प्रदीप कुमार यादव, अपर पुलिस अधीक्षक नगर कुॅवर ज्ञानंजय सिंह, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, ज्वाईन्ट मजिस्ट्रेट सूरज पटेल आईएएस, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. राजेश मोहन श्रीवास्तव, मेडिकल कालेज के प्राचार्य डाॅ. अनिल के. साहनी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ. डी.के. सिंह, वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ. ओ.पी. पाण्डेय, परियोजना निदेशक डीआरडीए अनिल कुमार सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी जी.डी. यादव, परियोजना अधिकारी डूडा संजय कुमार सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.